प्रधान मंत्री योजना क्या है

हमारे भारत के प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने बहुत सारी Pradhan Mantri Yojana की शुरुआत की है और आज हम जानने बाले हैं Pradhan Mantri Yojana List 2018: प्रधान मंत्री योजना लिस्ट जानिए हिंदी में. हमारे प्रधान मंत्री जी ने सभी देश बासियों के लिए नयी-नयी योजनाएं निकली हैं जिससे लाखो लोग उनका लाभ ले सके, हमारे देश में ज्यादा तर ग्रामीण लोग है जिनको आगे बढ़ने के लिए और जागरूक बनने के लिए बहुत जरूर है. आज मैं आपको Pradhan Mantri Yojana और प्रधान मंत्री सरकारी जानकारी देने बाला हूँ.

Pradhan Mantri Yojana List 2018: प्रधान मंत्री योजना लिस्ट जानिए

Pradhan Mantri Yojana List 2018: प्रधान मंत्री योजना लिस्ट जानिए

प्रधान मंत्री योजना  में बहुत सारी योजना आती हैं, हमारे देश के प्रधान मंत्री ने हमारे ग्रामीण लोगो के लिए नयी-नयी सेवा प्रदान की है जिसको इस्तमाल करना हर नागरिक का हक़ है. आज मैं आपको ऐसी Pradhan Mantri Yojana के बारे में बता रहा हूँ जिनको इस्तमाल करके हर भारतीय नागरिक लाभ उठा सकते है. 

1. प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY)

प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY) को 18th फरवरी 2016 लौंच किआ गया था. इस योजना के जरिये सभी भारतीय किसानों  को राहत मिली है. अगर आपके फसल को कोई हानि होती है तो आपको प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY) के तहत राहत प्रदान करती है.

इस फसल बीमा में किसानों को फसल के खाद और जरूरी फसल के लिए कीटनासक दबाइयाँ प्रदान करती है. अगर किसान अपनी फसल का बीमा करवाता है तो उसे फसल के न होने पर सूखा राहत भी प्रदान की जाती है जिससे किसानो को राहत मिल सके.

2. प्रधान मंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (PMJJBY)

इस योजना को 09th May 2015 को PM Shree Narendra Modi जी ने लौंच किआ गया था. ये एक Insurance Policy है. इसमें 18 years to 50 years तक के आदमी/महिला इस्तमाल कर सकते हैं. हमारे देश में आये दिन कई घटनाये होती रहती हैं जिससे हर एक का परिवार तवाह हो जाता है, ऐसे घटनाओं से राहत के लिए इस योजना को चलाया गया. हर भारत बासी 330 रुपए में 2 लाख का बीमा कर सकता है. 

3. प्रधान मंत्री आवास योजना (PMAY)

इस योजना को 08th April 2015 को लौंच किआ गया. इस योजना को गैर-कॉरपोरेट लघु व्यवसाय क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए बनाया गया है. इस योजना के तहत उद्यमियों को लगभग 1 लाख रुपये से लेकर 10 लाख रुपए का ऋण प्राप्त कर सकते हैं.

4.  प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (PMSBY)

इस योजना को 09th April 2015 को लौंच किया गया. इसमें हर व्यक्ति के लिए अच्छी सुब्धा है क्योंकि ये इन्शुरन्स है अगर आप किसी दुर्घटना और किसी बजह से आपकी दुर्घटना हो जाती है तो सरकार 2 लाख तक का दुर्घटना बीमा प्रदान करता है आप इसे मात्र 12 रुपए में  में ओपन कर सकते हैं. 

5. प्रधान मंत्री जन धन योजना (PMJDY)

प्रधान मंत्री जन धन योजना सभी के लिए बहुत इम्पोर्टेन्ट हैं क्योंकि कुछ ग्रामीण क्षेत्रों में अभी भी ग्रामीणों के बैंक खाते नहीं हैं जिससे वो सरकारी सेवाओं का लाभ नहीं उठा पाते थे. जन धन योजना को 28th August 2014 को लांच किया गया, इसकी हेल्प से लाखो ग्रामीणों के बैंक अकाउंट ओपन करवाए गए. 

6. प्रधान मंत्री कौशल विकास योजना (PMKVY)

प्रधान मंत्री कौशल विकास योजना को 15th July 2015 को लौंच किआ गया, इस योजना से हर भारतीय रोजगार प सकता है और देश का विकास कर सकता है अगर आप रोजगार हैं और  आपके पास कोई रोजगार नहीं है तो आप प्रधान मंत्री कौशल विकास योजना को इस्तमाल कर सकते हैं. 

7. प्रधान मंत्री सहज बिजली हर घर योजना (सौभाग्य योजना)

प्रधान मंत्री सहज बिजली हर घर योजना को 25th September 2017 लौंच किआ गया और इस योजना से गरीबों को मुफ्त में बिजली कनेक्शन प्रदान किआ जाता है. हमारे देश में मुफ्त बिजली कनेक्शन हो रहे हैं आप इनका लाभ उठा सकते हैं और आप फ्री बिजली प सकते हैं. 

8. प्रधान मंत्री ग्राम सड़क योजना (PMGSY)

हमारे देश में हज़ारो सड़को का आयोजन किआ जा रहा है. इस आयोजन में सबसे बड़ा योगदान है प्रधान मंत्री ग्राम सड़क योजना का. इस योजना के जरिये गाओं को शहर से और गली से गली से सड़क का निर्माण करके जोड़ा जा रहा है, हमारे देश में सड़क बनाने के लिए ट्रेंडर आते रहते हैं. इस योजना को 25th December 2000 को बनाया गया था.

9. प्रधान मंत्री गरीब कल्याण योजना (PMGKY)

हमारे देश में बहुत सारे लोगो के पास काला धन है जिसको इस योजना के जरिये काले धन को सफ़ेद धन बनाकर गरीब लोगो तक पहुंचाया जा रहा है या उनके विकास के लिए इस्तमाल किआ जा रहा है. प्रधान मंत्री गरीब कल्याण योजना को 16th December 2016 लौंच किया गया था.

10. प्रधान मंत्री उज्ज्वला योजना (PMUY)

प्रधान मंत्री उज्जवला योजना को 01st May 2016 को लौंच किया गया और इसका एक ही मकसद था गरीबी रेखा से नीचे की महिलाओं के लिए एलपीजी कनेक्शन मुफ्त प्रदान करना हुआ भी ऐसा ही लाखो करोड़ो महिलाओं को इसका लाभ भी मिला है. 

11. प्रधान मंत्री ग्रामोदय योजना (PMGDY)

इस योजना के जरिये जो ग्रामीण स्कूल हैं उनमे फ्री खाना पीना की सुबिधा बच्चो और बृद्ध लोगो के लिए प्रदान की गयी, ऐसे लोग जिनके पास खाने के लिए राशन नहीं हैं उनको फ्री खाना दिए गया और बच्चो को पोस्टिक खाना प्रदान किआ गया. इस योजना को 1st December 1997 लांच किया और इसमें मिड डे मील प्रोग्राम, एकीकृत बाल विकास योजना और किशोरी शक्ति योजना जैसी योजना आती हैं. 

12. प्रधान मंत्री कृषि सिंचाई योजना (PMKSY)

प्रधान मंत्री कृषि सिंचाई योजना (PMKSY) को 1st July 2015 लांच किआ गया इसका मकसद है जो किसान हैं उनकी फसल के लिए सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध कराना। इस योजना के लिए सरकार बड़े बड़े तालाब और नहरों को बना रही है जिससे हर किसान तक पानी पहुंचे।

13. प्रधान मंत्री रोजगार योजना (PMRY)

इस योजना को 2nd October 1993 में लांच किया गया था. इस योजना से युवाओं को व्यवसाय शुरू करने के लिए कम ब्याज दर पर ऋण दिआ जाता है. अगर आप अपना खुद का व्यापार सुरु करना चाहते हैं तो आप इस योजना का लाभ उठा सकते हैं. 

आखिरी विचार:-

दोस्तों हमारा देश अभी इतना बड़ा नहीं हुआ है की आपको फ्री में सारे योजना मिल सके आपको कुछ तो आपने देश के लिए करना होगा. इसमें कुछ योजना ऐसी हैं जिनकी अब्सकता बहुत लोगो को नहीं है और कुछ लोगो को है अगर आप इस योजना को सही लोगो तक पंहुचा सकते हैं तो जरूर पहुचाये। देश बदल रहा है आगे बढ़ रहा है इसलिए आप भी आगे आये और देश  की मदद करे.
मैं आशा करता हूँ की आपको ये जानकारी पसंद आयी होगी तो इसे आगे भी शेयर कीजिये जिससे सही लोगो तक ये जानकारी जाए और वे लाभ उठा सके. इस वेबसाइट पर बो हर सरकरी जानकारी मिलती है जो आप जानना चाहते हैं. 

पाकिस्तान की जनसंख्या कितनी है

दोस्तों आज मैं आपको बताने बाला हूँ पाकिस्तान की आबादी के बारे मैं और आज हम ये जानेगें की पाकिस्तान की जनसंख्या कितनी है 2018 | Pakistan Ki Jansankhya Kitni Hai. बहुत सारे लोगो का ध्यान पाकिस्तान खींच लेता है क्योंकि आये दिन पाकिस्तान ऐसे कर नाम करता रहता है. पाकिस्तान को मुस्लिम राष्ट्र भी कहा जाता है इसलिए पाकिस्तान को कुछ अलग ही अंदाज से जाना जाता है.

पाकिस्तान की जनसंख्या कितनी है 2018 | Pakistan Ki Jansankhya Kitni Hai

पाकिस्तान का ऑफिसियल नाम Islamic Republic of Pakistan है. पाकिस्तान की ऑफिसियल लैंग्वेज उर्दू और पंजाबी है क्योंकि पाकिस्तान पूर्व  पंजाब का ही एक हिस्सा था जिसे 1947 में भारत के पंजाब राज्य से अलग करके एक मुस्लिम राज्य बना दिए गया जिसका नाम रखा पाकिस्तान। आज भी इसे पाकिस्तान  के नाम से जाना जाता  है.

पाकिस्तान की जनसंख्या कितनी है 2018

पाकिस्तान की कुल आबादी 20 करोड़ है. पाकिस्तान की आबादी 2030 तक 24 करोड़ और 2040 तक 27 करोड़ के आस-पास पहुंच  जाएगी. पाकिस्तान दुनिया का एक मात्रा ऐसा देश है जहाँ पर मुस्लिम  की आबादी हिन्दू से कई गुना अधिक है. पाकिस्तान में हिन्दू की आबादी 3% है. 
पाकिस्तान में हिंदी भाषा भी बोली जाती है लेकिन यहाँ की सबसे ज्यादा बोलनी बाली भाषाएँ उर्दू, पंजाबी, और अरबिक हैं. पाकिस्तान को आंतक फैलाने बाला देश भी कहा जाता है. इसलिए पाकिस्तान देश की ग्रोथ रुकी हुयी है. हर देश की ग्रोथ उसके कामो से बढ़ती है. 

पाकिस्तान का इतिहास, पाकिस्तान के बारे में रोचक जानकारी 

पाकिस्तान में सबसे ज्यादा मुस्लिम्स रहते हैं. Pakistan के पूरे population का 96% है, और हिंदू 3% है, और बाकी Christian समाज के लोग है. ऐसे ही कुछ मज़ेदार पाकिस्तान के बारे में तथ्य देने बाला हूँ निचे पढ़िए. 
  1. 28 मई 1998 को पाकिस्तान Nuclear Power हासिल करने वाला पहला इस्लामिक देश बन गया।
  2.  Pakistan के पास दुनिया का का चौथा सबसे बड़ा Brodband Internet System है।
  3. इंटरनेट पर पोर्न सर्च करने के मामले में Pakistan शीर्ष देशों की सूची में नंबर एक पर है।
  4. 1947 में आजादी के दौरान Pakistan में हिन्दू जनसंख्या 24% थी, अब वह घटकर 1% रह गई है, क्या हुआ गुमशुदा हिन्दुओं का ?
  5. आतंकवादी और विद्रोही गतिविधियों के आधार पर किए गए विश्लेषण में Pakistan को दुनिया का आठवां सबसे खतरनाक देश बताया गया है।
  6. दुनिया में 50 % से ज्यादा फुटबाॅल अकेला Pakistan बनाता है।
  7. विश्व में सबसे बड़ा एम्बुलेंस नेटवर्क Pakistan का है।
  8. Pakistan Army दुनिया की छठी सबसे बड़ी Army है।
  9. भारत की आजादी के बाद भारतीय सेना ने Pakistan के खिलाफ तीन युद्ध जीते हैं।
  10. दुनिया का दुसरा सबसे ऊँचा पहाड़ K2, POK में है।
  11. छोलो का उत्पादन करने में Pakistan भारत के बाद दूसरे नंबर पर है।
  12. पिछले पांच साल में Pakistan की साक्षरता दर, 250% तक बढ़ गई।
  13. अकेले Pakistan में 60 से अधिक भाषाएँ बोली जाती है।
  14. हर साल लगभग 1 लाख लोग Pakistan घूमने जाते है।
  15. Pakistan में हर 7 Second में एक बच्चे का जन्म होता है।
  16. 14. एक दिन में सबसे ज्यादा पेड़ लगाने का रिकार्ड Pakistan के नाम है। यहाँ एक दिन में 7,50,000 पेड़ लगाए गए थे।
  17. पहला PC Virus दो पाकिस्तानी भाइयों ने बनाया था।
  18. पाकिस्तान के राष्ट्रीय गान की धुन को दुनिया की तीन शीर्ष धुनो में पहला स्थान प्राप्त है।
  19. . पाकिस्तानी गूगल पर सबसे ज्यादा सुअर, गधे, कुत्ते, बिल्ली और सांप की पोर्न वीडियो और अन्य सामग्री सर्च करते हैं।

ये रोचक जानकारी दी थी पाकिस्तान के बारे में पाकिस्तान और भारत दोनों देश एक दुसरे से लगे हुए देश हैं. भारत को पाकिस्तान का पितमहां कहा जाता है क्योंकि पाकिस्तान भारत का एक छोटा सा हिस्सा है. पाकिस्तान हर दिन भारत को गुलाम बनाने के सपने देखता है और साजिस रचता रहता हैं लेकिन पाकिस्तान कभी सफल नहीं होता है.

    पाकिस्तान जितना गोला बारूद भारत को गुलाम बनाने में खर्च कर देता है उतना पैसा अगर अपने विकास में लगाए तो पाकिस्तान एक दिन भारत जैसे बड़े देश के साथ कंधे मिलाकर चल सकते है. लेकिन पाकिस्तान की सेना बिना कुछ करे ही अमृत पीना चाहती है. 
    मैं आशा करता हूँ आपको मेरा ये आर्टिकल पसंद होगा मेरा यही उद्देश्य था की आप सभी पाकिस्तान के बारे में जाने और समझे और कुछ सोचे की पाकिस्तान और भारत में कितना फर्क है इसलिए पाकिस्तान की भारत से कम्पेयर करना छोड़िये और इस जानकारी को आगे भी शेयर करे. 

    SSC की पूरी जानकारी

    हेलो दोस्तों क्या आप 12th पास स्टूडेंट है तो आपके लिए इस आर्टिकल ऐसी जानकारी देने बाला हूँ जो आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है. इस आर्टिकल में मैं आपको बताने बाला हूँ की “SSC Full Form in Hindi” एसएससी क्या है. “SSC” कैसे करे की पूरी जानकारी. आपने 12 पास कर्ली है और आपको ये पता नहीं है की 12th पास करने के पास क्या करें तो आप इस आर्टिकल को पूरा पढ़े इसमें आपको पूरी जानकारी मिल जाएगी.

    [Staff Selection Commission] SSC Full Form in Hindi - एसएससी क्या है

    “SSC” हर स्टूडेंट कर सकता है क्योंकि ये डिप्लोमा लाखो स्टूडेंट की पहली पसंद है. आप 12th पास के स्टूडेंट से पूछ सकते हैं की उसे क्या करना है तो बो यही कहेगा की उसे SSC करना है इसलिए SSC एक ऐसी डिप्लोमा है जिसे हर प्रकार का स्टूडेंट कर सकता है.

    SSC Full Form in Hindi – एसएससी क्या है

    SSC यानी की Staff Selection Commission (कर्मचारी चयन आयोग) होता है. SSC की स्थापना 1977 में हुई थी. यह एक बोर्ड होता है जो केंद्र सरकार के मंत्रालयों और कई विभागों में ग्रुप B एवं C के लिए कर्मचारियों का चयन करता है. 
    SSC एक ऐसी स्टडी है जिसको करके आपको नौकरी मिलना तय  हो जाता है अगर आप बैंक और रेलवे जैसे सरकारी नौकरी पाना चाहते हैं तो आप SSC की तैयारी जरूर करे और SSC का एग्जाम जरूर दे. इसके लिए आपको कोई कॉलेज ज्वाइन करने की जरुरत नहीं पड़ती है आप नजदीकी किसी कोचिंग या इंस्टुट में जाकर SSC की स्टडी कर सकते हैं. 

    एसएससी  कैसे करे 

    आप अगर एसएससी करना चाहते हैं तो आप अपने नजदीकी किसी कोचिंग में जाकर इसकी स्टडी कर सकते हैं. आपको इसकी जानकारी भी कोचिंग से ही मिल जाएगी. एसएससी की परीक्षा ऑनलाइन कंप्यूटर  माध्यम से ली जाती है आप जब इसका एग्जाम देने जायेगें तो पता चल जायेगा. 
    फाइनली एसएससी का पूरा नाम कर्मचारी चयन आयोग होता है.  आपको इसके बारे में पूरी जानकारी विकिपीडिया पर मिल जाएगी.  आप इस लिंक को विजिट करे – कर्मचारी चयन आयोग

    महावीर स्वामी कौन थे? Who Was Mahaveer Swami

    Mahaveer Swami: आज मैं आपको महावीर स्वामी जी के बारे में बताऊंगा और उनके पूरे जीवन से पर्दा उठाऊंगा की आखिर कौन थे महावीर स्वामी और इनको जैन धर्म में एक बहुत बड़ी उपाधि क्यों मिली है। आखिर जैन धर्म में इनका क्या योगदान है। आईये जानते हैं इनके बारे में।

    Who Was Mahaveer Swami

    महावीर स्वामी कौन थे?

    महावीर जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर हैं। महावीर का जन्म 540 ई. पू. पहले वैशाली गणतंत्र के क्षत्रिय कुण्डलपुर में हुआ था। इनके पिता का नाम सिद्धार्थ और माता का नाम त्रिशला था। स्वामी जी के बचपन का नाम वर्धमान था। 
    जन्म 599 ईO पूO
    जन्म स्थान कुण्डग्राम ( वासुकुण्ड )
    माता त्रिशला
    पिता सिद्धार्थ / श्रेयंस / यासांस
    बचपन का नाम वर्धमान
    गोत्र कश्यप
    जाति ज्ञातृक
    वंश इक्ष्वाकु
    प्रतीक सिंह
    पत्नी यशोदा
    भाई नंदिवर्धन
    बहन सुदर्शना
    पुत्री प्रियदर्शना / अणनौज्जा
    गृहत्याग 30 वर्ष की अवस्था में
    ज्ञान की प्राप्ति 42 वर्ष की अवस्था में, ऋजुपलिका नदी तट पर शाल वृक्ष के नीचे
    प्रथम उपदेश राजगृह में बराकर नदी तट पर बिपुलाचल पहाड़ी पर
    प्रथम वर्षावास अस्तिकाग्राम में
    प्रथम शिष्य जमालि
    प्रथम शिष्या चांदना
    प्रथम गणधर गौतम स्वामी
    अंतिम वर्षावास पावापुरी
    संघ का प्रथम विच्छेदक जमालि
    संघ का द्वितीय विच्छेदक तीसगुप्त
    मृत्यु 527 ईo पूo पावापुरी में

    महावीर के बारे में रोचक जानकारी

    महावीर जैन धर्म के 24वें तीर्थकार हैं। इसलिए इनको जैन धर्म में पूजा जाता है। इन्होने अपनी 30 साल की उम्र में अपना घर छोड़ दिया था। और अभी तक इनको ज्ञान प्राप्त नहीं हुआ था इन्हे ज्ञान जब मिला जब ये ऋजुपलिका नदी तट पर शाल वृक्ष के नीचे बैठे थे और तब इनकी उम्र 42 वर्ष की थी। 
    इनकी जाती ज्ञातृक थी और इनके बचपन का नाम वर्धमान था और इनके अन्य नाम वीर, अतिवीर, वर्धमान, सन्मति है। महावीर की पत्‍नी का नाम यशोदा और पुत्री का नाम अनोज्जा प्रियदर्शनी था। अगर हम इनकी फ्यसिकल स्थिति की बात करें तो इनकी उचाई 6 फ़ीट यानी 7 हाथ की थी।

    आखरी विचार 

    मुझे आशा है की आपको महावीर स्वामी जी के बारे में जानकारी पसंद आयी होगी। अगर मुझे इनके बारे में और अधिक जानकारी मिलती है तो यहाँ जोड़ दी जाएगी। जब तक के लिए हमारे और भी आर्टिकल पढ़ सकते हैं, जिसमे हमने देश और दुनिया के सभी महान पुरसों के बारे में अधिक से अधिक जानकारी दी है। 

    कल्यामपुड़ी राधाकृष्ण राव कौन हैं? Calyampudi Radhakrishna Rao Biography

    आज हम आपको एक ऐसे सख्सियत के बारे में बताने जा रहे हैं जो दुनिया के महान गणितज्ञों में से एक है। जी हाँ आज हम बात करने बाले है मशहूर भारतीय और अमेरिकी गणितज्ञ कल्यामपुड़ी राधाकृष्ण राव के बारे में। इस लेख में हम आपको Calyampudi Radhakrishna Rao Biography के बारे में बात करूंगा।

    कल्यामपुड़ी राधाकृष्ण राव की जीवनी 

    Calyampudi Radhakrishna Rao biography
    C. R. Rao का जन्म 10 सितम्बर 1920 को भारत के राज्य कर्नाटक में हुआ था। ये एक तेलुगु परिवार में पैदा हुए थे। ये अपने माता-पिता के 10 बच्चों में से 8में स्थान पर हुए थे। राधाकृष्ण राव जी ने आंध्र विश्वविद्यालय से गणित में एमएससी की और 1943 में कलकत्ता विश्वविद्यालय से सांख्यिकी में एमए भी किया। उन्होंने 1948 में आर. ए. फिशर के तहत कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय में किंग्स कॉलेज में पीएचडी की डिग्री प्राप्त की, जिसमें उन्होंने एक स्कॉड को जोड़ा। 1965 में कैम्ब्रिज से भी डिग्री प्राप्त की।
    उन्होंने पहले भारतीय सांख्यिकी संस्थान और कैंब्रिज में मानव विज्ञान संग्रहालय में काम किया। इसके बाद में राव भारतीय सांख्यिकी संस्थान, जवाहरलाल नेहरू प्रोफेसर और भारत में राष्ट्रीय प्रोफेसर, पिट्सबर्ग विश्वविद्यालय में विश्वविद्यालय के प्रोफेसर और सांख्यिकी के अध्यक्ष और सांख्यिकी के अध्यक्ष और पेंसिल्वेनिया राज्य विश्वविद्यालय में बहुपक्षीय विश्लेषण केंद्र के निदेशक के रूप में कई महत्वपूर्ण पदों पर रहे।

    कल्यामपुड़ी राधाकृष्ण राव कौन हैं?

    राव जी एक प्रसिद्ध भारतीय-अमेरिकी गणितज्ञ हैं और आज इनकी उम्र करीब 99 वर्ष है और ये अभी भी अपना कार्य कर रहे हैं। ये एक ऐसी हस्ती है जिनके पास अमेरिकी, ब्रिटिश, भारतीय, तीनों देशो की राष्ट्रता है। इनको भारत सरकार ने पद्म भूषण से सम्मानित किया था। 
    इनका जन्म 10 सितम्बर 1920 में भारत के राज्य कर्नाटक में हुआ था और इनके माता-पिता का नाम A. Laxmikanthamma, C. Doraswamy Naidu है। यह अभी वर्तमान में पेंसिल्वेनिया स्टेट यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर एमेरिटस हैं और बफ़ेलो विश्वविद्यालय में रिसर्च प्रोफेसर हैं।

    आखिरी बिचार

    मैं आशा करता हूँ की आपको मेरी ये जानकारी आपको पसंद आयी होगी। मुझे जितनी जानकारी मिली मैंने यहाँ बता दी अगर और जानकारी मिली तो इधर जोड़ दी जाएगी। 

    UPPSC: उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग क्या है?

    UPPSC: आज मैं आपको Uttar Pradesh, Public Service Commission, के  बारे में पूरी जानकारी दूंगा साथ ही कुछ टॉपिक्स के बारे में बताऊंगा जैसे की UPPSC Syllabus, Result, News, in Hindi, ऐसे सभी टॉपिक पर बात करूँगा। यूपीपीएससी एक ऐसी एजेंसी है जो उत्तर प्रदेश की विभिन्न सिविल सेवाओं में प्रवेश स्तर की नियुक्तियों के लिए सिविल सेवा परीक्षा आयोजित करती है। ये सेवा भारत के सभी रज्यों में उपलब्ध है और ये सभी राज्यों में अलग -अलग नामों से काम करती है।

    UPPSC in hindi

    UPPSC IN Hindi: उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की पूरी जानकारी

     उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (UPPSC) के जरिये इस सिविल परीक्षा का आयोजन किया जाता है, जिसका सिर्फ एक ही मकसद होता है की उत्तर प्रदेश सिविल सेवाओं में में नए परीक्षार्थियों को `शामिल किया जाए।
    ये उत्तर प्रदेश की विभिन्न सिविल सेवाओं में प्रवेश स्तर की नियुक्तियों के लिए सिविल सेवा परीक्षा आयोजित करने के लिए अधिकृत राज्य एजेंसी है। एजेंसी का चार्टर भारत के संविधान द्वारा प्रदान किया गया है। संविधान के भाग XIV के 315 से 323 के लेख, संघ और राज्यों के अधीन सेवाएँ शीर्षक से, संघ के लिए एक लोक सेवा आयोग और प्रत्येक राज्य के लिए प्रदान करते हैं।
    उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग की शुरुआत 1 अप्रैल 1937 में हुई थी, जिसका मुख्य उद्देश्य राज्य में विभिन्न सेवाओं में उम्मीदवारों की भर्ती करना था। और आयोग को उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग विनियमन, 1976 द्वारा विनियमित किया जाता है।

    UPPSC Full Form in Hindi – यूपीपीएससी का पूरा नाम

    अगर हम UPPSC के English Form करें तो इसका मतलब Uttar Pradesh, Public Service Commission, होता है और यूपीपीएससी के हिंदी मतलब की बात करें तो इसका पूरा नाम उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग है। जिसकी मांग लगभग ब्रिटिश शासन में हो गयी थी जिसे 1976 में पूर्ण रूप से लागु किया गया। इसका न्यालय प्रयागराज में है।  

    उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग कैसे काम करता है?

    इस परीक्षा को इसलिए आयोजित किया जाता है की उत्तर प्रदेश की जितनी भी सिविल सेवा है उनके पदों पर कर्मचारियों की नियुक्ति कर सके जैसे की – पुलिस, इंजीनियर, डीएम, होमगार्ड, जैसे और भी पदों पर नियुक्ति कर सकें। अगर आप भी सिविल सेवा में अपना योगदान देना चाहते हैं तो इसके लिए आपको एग्जाम देना होगा जिसकी जानकारी निचे है।  

    यूपीपीएससी कैसे करें?

    दोस्तों बैसे ये बहुत अच्छी सेवा है जिसको ज्वाइन करने से आपको नाम और पैसा दोनों मिलेगा। इसमें बहुत सारे ट्रेड्स होते हैं, आपको इन मे से कोई एक को चुनना होता है। आप अपना चयन करलें की आपको किस ट्रैड पर काम करना है। 
    इसके बाद आपको uppsc.up.nic.in/ पर जाकर आवेदन करना है और एडमिट कार्ड भी इसी साइट से डाउनलोड करना है साथ ही में uppsc result भी इसी पर देखना है। आवेदन करने इसके बाद आप परीक्षा में उपस्थिति दे सकते हैं और सफलता पूर्वक अपनी परीक्षा दे सकते हैं। 

    UPPSC Syllabus कैसे डाउनलोड करें?

    सिलेबस डाउनलोड करने के लिए आप ऑनलाइन लर्निंग साइट का इस्तेमाल कर सकते हैं। आपको ऐसी गूगल पर बहुत सारी साइट्स मिल जायेगीं जो uppsc syllabus को प्रोवाइड करती हैं। आप गूगल करें और डाउनलोड करले। 

    आखरी विचार

    मैंने इस आर्टिकल में उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के बारे में पूरी जानकारी दी है। मैं आशा करता हूँ की आपको ये जानकारी पसंद आयी होगी। तो इससे से जुडी जानकारी के लिए हमारे अधिक से अधिक आर्टिकल पढ़े। 

    आयुष्मान भारत बीमा योजना की जानकारी

    आयुष्मान भारत योजना इन हिंदी: दोस्तों आपके लिए एक नयी योजना लौंच हुयी है जिसका नाम है ‘Ayushman Bharat Yojana‘  ‘आयुष्मान भारत बीमा योजना की जानकारी ‘ इस योजना के तहत करोड़ो गरीब परिवार को हेल्थ से रिलेटेड लाभ मिलेगा. आयुष्मान भारत योजना के तहत आप 5 लाख तक का राष्ट्रीय बीमा करवा सकते हैं. आयुष्मान भारत योजना से 10 करोड़ गरीब परिवार लाभ उठायेगें अगर आप भी गरीब परिवार के हिस्से में आते हैं तो आप भी आयुष्मान भारत योजना का लभ उठा सकते हैं. आज हम आयुष्मान भारत योजना के बारे पूरी जानकारी देने बाले हैं जैसे की आयुष्मान भारत योजना कैसे काम करती है, Ayushman Bharat Yojana को किस लिए बनाया गया है, आयुष्मान भारत योजना बनाने का क्या मकसद है और साथ ही आयुष्मान भारत योजना का लाभ आप कैसे उठा सकते हैं इस बारे में भी बात करेगें.

    Ayushman Bharat Yojana क्या है, कैसे उठाये आयुष्मान भारत योजना का लाभ

    आयुष्मान भारत योजना का एक ही मकसद है  जो गरीब परिवार हैं उनको मुफ्त हेल्थ केंद्र और हेल्थ सम्बंधित सलाह के साथ हेल्थ से सम्बंधित इलाज के लिए ये आयुष्मान भारत योजना बनायीं गयी है. इस योजना का लाभ 10 करोड़ से भी ज्यादा गरीब परिवार लाभ उठायेगें. आयुष्मान भारत योजना एक प्रकार का बीमा है पहले के समय में राष्ट्रीय बीमा योजना 1 लाख रुपए तक की होती थी लेकिन बढ़ाकर उसे 5 लाख तक कर दी गयी है इसका मतलब ये है की आप अब राष्ट्रीय बीमा 5 लाख तक का कर सकते हैं.

    Ayushman Bharat Yojana क्या है?

    दोस्तों आयुष्मान भारत योजना को 14 April 2018 को लौंच किया गया था. अब तक इसका लाभ करोड़ो लोग उठा चुके हैं. आयुष्मान भारत योजना को राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण योजना भी कहा जाता है क्योंकि ये एक सरकारी योजना है. आयुष्मान भारत योजना एक ऐसा कार्यक्रम है जिसका उद्देश्य एक स्वस्थ, सक्षम और नई नई सामग्री बनाने के लिए एक सेवा प्रदान करना है. आयुष्मान भारत योजना स्कीम का लाभ लग-भाग 40% भारतीयों को मिलेगा. इस योजना के जरिये ग्रामीण, नगर और कस्बों में स्वास्थ्य सेवा शिविर आदि लगवाए जायेंगें जिससे लोगो को इसका लाभ मिल सके.

    Ayushman Bharat Yojana के मुख्य कार्यकारी अधिकारी इंदु भूषण और डॉ दिनेश अरोड़ा के रूप में नियुक्त किया गया है. इस योजना को आगे तक ले जाने में इन दोनों कार्यकारी अधिकारियों मेहनत है और सभी भारत वासियों का प्यार. आप जल्दी से जल्दी Ayushman Bharat Yojana का लाभ उठाये.

    आयुष्मान भारत बीमा योजना की जानकारी

    देखो भाई सिंपल है हर सरकारी योजना को लौंच करने का कोई न कोई सरकार का कारन होता है ठीक इसी प्रकार Ayushman Bharat Yojana को स्टार्ट करने के पीछे सरकार का कोई न कोई कारन जरूर होगा. अब हम बात करे की आयुष्मान भारत योजना स्टार्ट करने के पीछे सरकार का क्या कारन रहा होगा तो इसके पीछे सिंपल स कारन है वो है ‘हेल्थ’ यानि की स्वास्थ। आज के टाइम हैल्थी इंसान काम ही मिलेगें कोई न कोई किसी न किसी बीमारी का शिकार है इसलिए सरकार ने इससे बचने के लिए Ayushman Bharat Yojana को स्टार्ट किआ है. इसके पीछे कुछ ये भी कारन है –
    1. आज के टाइम में बहुत भारत बासी है जिनके पास दबा करवाने के लिए पैसे नहीं हैं, उनके लिए योजना है.
    2. जो लोग अपना सरकारी हेल्थ बीमा ओपन करवाना चाहते हैं उनके लिए योजना बहुत सही है, सभी इस योजना के जरिये 5 लाख तक का बीमा करवा सकते हैं.
    3. बहुत सारी ऐसे कम्पनी है जो फ्रॉड बीमा करती हैं और जनता का पैसा लूट कर ले जाती है इससे बचने के लिए सरकारी राष्ट्रीय बीमा का आयोजन किआ गया है जिसे हम आयुष्मान भारत योजना के नाम से जानते हैं.
    4. ग्रामीण लोगो के पास हेल्थ चेकउप करवाने और हेल्थ को ठीक करने के लिए ज्यादा साधन नहीं होते हैं, अब इस योजना से लगभग डेढ़ लाख से भी ज्यादा स्वास्थ केंद्र खुलवाये जायेंगें।

    Ayushman Bharat Yojana से सभी को बहुत लाभ है. हमारे प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की के जरिये इस योजना की शुरुआत हो सकी है जिसका लाभ सभी गरीब परिवार को लेना चाहिए और इसके बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी इकट्ठा करनी चाहिए. इस योजना के जरिये सभी गरीब परिवारों को ये सभी सुबिधा मुहैया करवाई जायेंगीं –

    1. राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण योजना (National Health Protection Scheme)
    2. कल्याण केंद्र राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण योजना ( Wellness centres. National Health Protection Scheme)

    सभी गरीब परिवारों को ये सब सुबिधा प्रदान की जाएगी. आपको बस इस योजना का लाभ उठाना आपको सरकार सारी सुबिधा प्रदना करेगी.

    आयुष्मान भारत योजना के विवरण

    अगर आप Ayushman Bharat Yojana का लाभ उठाते हैं तो आपको इसमें बहुत सारी सुबिधा मुफ्त दी जायेगीं जिसमे आपको फ्री इलाज, फ्री दबाएं, फ्री चेकउप के साथ आपको बहुत सारी सुबिधा मिलेगीं. जैसे की
    1. सरकार सभी गावों और घरो के नजदीक 1.5 लाख स्वास्थ्य एवं आरोग्य केंद्र खोलेगी।
    2. मरीज़ो के लिए फ्री दबाइयाँ और इलाज मुहैया करवाएगी सरकार
    3. सरकार की तरफ से मरीजों को फ्री चेकउप मिलेगा.
    4. सरकार ने आयुष्मान भारत योजना के 12000 करोड़ का बजट निर्धारित किआ है.

    आयुष्मान भारत योजना 2018

    1. इस योजना से सभी गरीब परिवारों को लाभ मिलेगा.
    2. आप इसके जरिये अपना राष्ट्रीय बीमा खोल सकते हैं.
    3. Ayushman Bharat Yojana के जरिये सभी ग्रामीण क्षेत्रों और गाँवों कस्बे में सरकारी स्वास्थ्य एवं आरोग्य केंद्र  खोले जायेगें. 
    4. आयुष्मान भारत योजना के तहत  8.03 करोड़ और शहरों के 2.33 परिवारों को शामिल किया गया है.
    5.  सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना के तहत प्रत्येक परिवार को सालाना पांच लाख रुपये की कवरेज दी जाएगी और वे सरकारी या निजी अस्पताल में कैशलेस इलाज करा सकेंगे. अनुमान के मुताबकि इस योजना के तहत अब देश के करीब 10 हजार अस्पतालों में ढाई लाख से ज्यादा बेड गरीबों के लिए रिजर्व हो जाएंगे.
    6. Ayushman Bharat Yojana का मुख्या उद्देश्य है जो गरीब परिवार हैं उनको फ्री इलाज व चिकत्सा दी जाएगी. 
    7. भारत सरकार आयुष्मान भारत योजना के तहत 5 लाख का बीमा प्रदान करती है जिससे गरीब परिवार अपना इलाज करवा सकता है. 

    आयुष्मान भारत योजना स्कीम के लिए पात्रता और आयुष्मान भारत योजना रजिस्ट्रेशन 

    1. अगर आपके पास कच्चे घर, या आप गरीबी रेखा के दायरे में आते हैं. जिनके पास (लाल रासन कार्ड ) हैं और अगर आपके परिवार में 19 वर्ष से 59 वर्ष के बीच में कोई व्ययस्क या कोई सरकारी नौकरी नहीं है तो आप इसके हक़  दार हैं.
    2. अगर आपके परिवार में कोई व्यक्ति ऐसा नहीं है जिसके पास पैसा कमाने का कोई ऐसा जरिया नहीं है जिससे कोई अपना इलाज नहीं कर सकता है. 
    3. कोई ऐसा परिवार जिसकी मुखिया महिला हो और वो परिवार का भरा-पोसन करती हो.
    4. ऐसा परिवार जिसके पास कोई पुरुष परिवार का खर्च चलाने के लिए नहीं हो. 

    सीधी बातों में कहे की आप अगर गरीबी रेखा आते हैं और आपकी आय नहीं है तो आप आयुष्मान भारत योजना का लाभ उठा सकते हैं. आप इस योजना का लाभ जरूर ले.

    आयुष्मान भारत योजना से संपर्क और आयुष्मान भारत योजना online form

    Ayushman Bharat Yojana का लाभ उठाने के लिए आप  आयुष्मान मित्र/आरोग्य मित्र से संपर्क  करे या फिर आयुष्मान भारत योजना की ऑफिसियल वेबसाइट  जाकर देख सकते हैं. https://www.abnhpm.gov.in/ पर जाकर सारी जानकारी ले सकते हैं. 

    आखरी विचार आयुष्मान भारत योजना के बारे में 

    दोस्तों ये एक सरकारी योजना है जिसकी जानकारी टाइम के साथ अपडेट होती रहती है. आप इसकी जानकारी पाने के लिए हमारी वेबसाइट को विजिट करते रहे और साथ ही इसके बारे में ज्यादा जानकारी पाने के लिए Wikipedia Ki link पर क्लिक करे. 
    मैं आशा करता हूँ आप Ayushman Bharat Yojana के बारे में अच्छे से जान चुके होंगे। आपको इसके बारे में और हर सरकारी जानकारी पाने के लिए इस वेबसाइट को विजिट करते रहे और जानकारी प्राप्त करते रहे. 

    प्रधानमंत्री आवास योजना की पूरी जानकारी

    दोस्तो आज मे आपको  प्रधानमंत्री आवास योजना के बारे में बता रहा हूँ, अगर आप जानना चाहते हैं, प्रधानमंत्री आवास योजना [PMAY] के लिए apply कैसे करे, प्रधानमंत्री आवास योजना 2018, PM आवास योजना: किसे और कैसे मिल सकता है इस योजना का लाभ, दोस्तो ये सब जानने के लिए आप नीचे का आर्टिक्ल पढे।

    Pradhan mantri awas yojana in hindi | प्रधानमंत्री आवास योजना

    प्रधानमंत्री आवास योजना क्या है?

    दोस्तो प्रधानमंत्री आवास योजना एक बहुत हीअच्छी योजना है जिसकी हेल्प से जिसके पास पक्के घर नहीं हैं उनको घर मिलते हैं। अगर आपके पास कोई पक्का मकान नहीं है तो आप ऑनलाइन फोरम भर सकते हैं जिसकी हेल्प से आप प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ उठा सकते हैं। 
    इसकी भी एक वेलुए होती है, इसके लिए आपके पास कोई भी घर नहीं होना चाहिए खास कर के पक्का मकान, अगर आपके पास 1 भी पक्का मकान है तो आप इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। 

    प्रधानमंत्री आवास योजना [PMAY] के लिए apply कैसे करे

    अगर आप ऑनलाइन फोरम करना चाहते हैं तो आप PMAY की ऑनलाइन साइट पर अप्लाई कर सकते हैं। आपके पास कुछ डॉकयुमेंट होने चाहिए जिससे आपकी identy प्रूफ हो सके। आपके 2 ऑप्शन हैं PMAY के लिए अप्लाई करने के या तो आप अपने ब्लॉक मे जाकर अप्लाई करें या फिर आप ऑनलाइन कर सकते हैं। ऑनलाइन अप्लाई करने के लिए आप http://pmaymis.gov.in/ पर जाकर अप्लाई कर सकते हैं। 

    प्रधानमंत्री आवास योजना में कितने पैसे मिलते हैं?

    प्रधानमंत्री आवास योजना  मे धारक को 1 लाख 20 हज़ार रुपेय की राशि मिलती है जो आपके जिला सरकारी बैंक के अकाउंट मे आती है कई बार ग्राम प्रधान बिना बताए पैसे निकाल लेते हैं इसलिए आप सतर्क रहें। 

    आखिरी विचार: 

    अगर आपको Pradhan mantri awas yojana in hindi | प्रधानमंत्री आवास योजना  जानकारी पसंद आई होतो आप लाइक शेर कर सकते हैं। और आपको कोई प्रोब्लेम आती है तो आप नीचे कमेंट भी कर सकते हैं। 

    वर्ल्ड वाइड वेब क्या है और इसको कैसे इस्तमाल करते हैं

    वर्ल्ड वाइड वेब क्या है और इसको कैसे इस्तमाल करते हैं: दोस्तों इस आर्टिकल में, मैं आपको बताने बाला हूँ की Www का पूरा नाम क्या है. आप ने कभी इंटरनेट चलाया है और आपने कभी नोटिस किआ है की जब आप किसी वेबसाइट को ओपन करते हैं तो उसमे “www” क्यों लगाना पड़ता है और कोई भी साइट www के साथ ही क्यों ओपन होती है और इसका पूरा मतलब  क्या होता है इसके बारे में जानकारी देने बाला हूँ.

    ये तो सभी जानते हैं की इंटरनेट का दूसरा नाम technology server होता है जो technology मशीनो और digital उपकरणों से बनता है ठीक इसी प्रकार सर्वर पर कोई वेबसाइट को run करने के लिए हम्हे एक वेबसाइट बनानी पड़ती है और उस वेबसाइट को बनाने के लिए एक web address की जरुरत पड़ती है तभी हम web address बनाने के लिए www यानि की “World Wide Web” इस्तमाल करते हैं. तब जाकर हम अपनी वेबसाइट को server से जोड़ सकते हैं.

    इस आर्टिकल में, मैं आपको World Wide We (www), Www का पूरा नाम क्या है, WWW Full Form in Hindi, World Wide Web Meaning In Hindi के साथ WWW History की बात करेगें.

    Www का पूरा नाम क्या है?

    www full form ( Www का पूरा नाम) “WORLD WIDE WEB” होता है. www का इस्तमाल करके हम अपनी वेबसाइट को server से जोड़ सकते हैं और साथ ही में हम अपनी वेबसाइट पर अपने नॉलेज के हिसाब से वर्क भी कर सकते हैं. 

    WWW Ka Full Form

    “WORLD WIDE WEB”

    World Wide Web Meaning In Hindi

    “विश्व व्यापी वेब”

    WWW क्या है?

    www server पर काम करता है अगर आप कोई वेबसाइट बनाना चाहते हैं तो आपको पहले अपनी वेबसाइट www के साथ server से जोड़ना पड़ता है. तब जाकर आप अपनी वेबसाइट को चला सकते हो. 
    WWW Html, Http, Web Server और Web Browser पर काम करता है, Web Server पर सभी Website के लिए एक Link होती है जो www  और Dot के साथ जुड़ी होती है जिसे Web Address कहते हैं. अगर आप किसी भी साइट को किसी ऐसे ब्राउज़र में ओपन करोगे जिसमे auto www adding सेटिंग न हो तो आप उस ब्राउज़र में अपनी साइट या किसी भी साइट बिना www के साथ रन नहीं कर सकते हैं. 
    अभी जितने भी ब्राउज़र हैं जिन्हे हम इंटरनेट के लिए इस्तमाल करते हैं उनमे पहले से ऐसी सेटिंग होती हैं जिनमे आटोमेटिक www जुड़ जाता है और साइट ओपन हो जाती है लेकिन पहले समय में हम्हे www भी साथ में जोड़कर साइट को ओपन करना पड़ता था. 
    www website का पूरा address होता है जैसे की – https://www. sarkaripedia .in/ जिस तरह इसमें www का इस्तमाल हुआ है ठीक बैसे ही सभी urls में www का इस्तमाल होता है.

    WWW History

    दोस्तों अब बात आती है इसके इतिहास की तो Tim Berners Lee (टिम बर्नर्स ली) को World Wide Web Inventor माना जाता है, Tim Berners Lee ने WWW को 1989 में बनाया था जिसका पहला ट्रायल December 1990 में स्विट्जरलैंड में Cern लैबोरेट्रीज में हुआ था. 1993 तक Browser और Web Server Software उपलब्ध हो गए थे, और इसके साथ ही 1992 तक कुछ Sites जैसे – विश्वविद्यालय इलिनोइस, 1992 के अंत तक लगभग 26 Sites डेवलप हो चुकी थी. ठीक इसी प्रकार तब से अब तक www टेक्नोलॉजी server का मुख्य रोल बन गया. 

    आखरी विचार:

    दोस्तों आखिरी में, मैं आपको बताना चाहता हूँ की www का पूरा नाम “WORLD WIDE WEB” है जिसे अभी तक सभी इंटरनेट वर्क्स में इस्तमाल किआ जाता है और आगे भी इसे  किआ जायेगा. www सभी web browser के साथ और https, http, HTML, और बहुत सारे सर्वर उपकरणों के साथ मिलकर इस्तमाल या वर्क करता है. 
    मैं आशा करता हूँ की आपको ये जानकारी पसंद आयी होगी तो इसे ज्यादा-ज्यादा से शेयर करे और निचे कमेंट करे. ऐसी जानकारी पाने के लिए इस साइट को विजिट करते रहे और इसे जुडी ज्यादा जानकारी पाने के लिए आप और आर्टिकल पढ़े. 

    HTML क्या है और इसे कैसे सीखें?

    एच.टी.एम.एल – हेलो दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं full form of HTML यानी की HTML का पूरा नाम क्या है और ये किस काम में वर्क करता है. अभी हम पिछले आर्टिकल में पढ़ा था की CSS का फुल फॉर्म क्या है लेकिन आज हम बात करने वाले हैं HTML Full Form की, ये तो सभी जानते ही होगें की आज के टाइम इंटरनेट का use कितना बढ़ता जा रहा है लेकिन आप ये नहीं जानतें होगें की जब हम इंटरनेट पर कोई कंटेंट सर्च करते हैं तो जो कंटेंट हम्हे सर्च में मिलता है बो बासिक्ली वेबसाइट पर स्टोरेज रहता है और बो वेबसाइट HTML पर बानी रहती है. लेकिन हर वेबसाइट HTML कोडिंग पर ही नहीं बानी होती कुछ वेबसाइट other programming language में क्रिएट होती है लेकिन अधिक्तर website HTML पर ही बनी होती है.

    HTML क्या है और इसे कैसे सीखें?

    आज के टाइम में आपको आपके जरुरत के हिसाब से इंटरनेट काफी useful है आपको जब भी कोई जानकारी की  जरुरत पड़ती है आप आसानी से इंटरनेट ओपन करके इंटरनेट पर सर्च करके आसानी जानकारी जुटा लेते होगें लेकिन अब बात ये आती है की बो जानकारी इंटरनेट पर कहा से आ जाती है और जो इंटरनेट पर जानकारी में text इस्तमाल किये जाते हैं बो कहाँ से आ जाती है. तो जानकारी के लिए आपको बता देता हूँ की बो जानकारी हमारे इंटरनेट डेवलपर एंड कंटेंट राइटर वहाँ पर लिखते हैं. लेकिन अब बात आती है की कैसे लिखते हैं तो जानकारी ये की बो Coding का इस्तमाल करके वेबसाइट क्रिएट करते हैं जिसमे HTML programming language का पूरा इस्तमाल रहता है और जो text इस्तमाल किये जाते हैं बो भी HTML से ही क्रिएट किये जाते हैं.

    दोस्तों HTML एक ऐसी programming language है जिससे आप बड़ी से बड़ी वेबसाइट क्रिएट कर सकते हैं. इस लैंग्वेज के इलाबा बहुत सारी language है जो internet programming में इस्तमाल होती हैं लेकिन HTML सबसे ज्यादा इस्तमाल की जाने बाली programming language है तो दोस्तों जानते हैं HTML Full Form के बारे में.

    HTML Full Form in Hindi – HTML का पूरा नाम क्या है?

    HTML Full Form in Hindi - HTML का पूरा नाम क्या है?
    HTML का Full Form “Hypertext Markup Language” है जिसे हम शार्ट में एच.टी.एम.एल (HTML) भी कहते हैं. इस programming language का इस्तमाल web pages और Web application बनाने में किया जाता है. इसके साथ CSS programming language और Java programming language का भी इस्तमाल किआ जाता है. जहाँ पर HTML का इस्तमाल होता है फिर बहाँ style इफेक्ट देने के लिए css का इस्तमाल किया जाता है.  
    HTML के साथ और भाषा जैसे: CSS, JavaScript, जैसी भाषा मिलकर www के लिए यानी की world wide web के लिए एक वेबसाइट का निर्माण करते हैं जो सर्वर से कनेक्ट होकर www के लिए वर्क करती हैं. आप ऐसी साइट पर बहुत सारे वर्क कर सकते हैं. 

    History of html in hindi

    HTML language का इस्तेमाल सर्वप्रथम 1980 में भौतिक वैज्ञानिक Tim Berners-Lee के द्वारा किया गया था. Tim Berners-Lee ने 1989 में Internet-based hypertext system आधारित एक प्रस्ताव विज्ञापन बनाया, इसके उपरांत इन्होने 1990 के अंत तक में HTML को विस्तृत कर browser एवं server software भी बनाया। पहले समय में HTML इतना useful नहीं माना गया और प्रोग्रामर्स ने इसे इस्तमाल करने से मना कर दिया लेकिन 1991 में इसका नया वर्शन लांच हुआ जिसके पश्चात सभी ने इसे इस्तमाल किया। तब से अब तक इसके बहुत सारे वर्शन मार्केट्स में मौजूद है. 

    HTML Version

    तब से अब तक HTML ने बहुत सारे version को बनाया है जिसमे तब से अब तक के बहुत सारे version available हैं जिनकी जानकारी आपको में निचे दे रहा हूँ. 
    1. HTML
    2. HTML5
    3. XHTML 0 
    4. XHTML 1 
    5. XHTML 0 
    6. XHTML syntax

    HTML Features

    HTML में बहुत सारे फीचर्स Available हैं जिनसे आप एक परफेक्ट वेबसाइट और एप्लीकेशन बना सकते हैं लेकिन आपको HTML में लिमिटेड फीचर्स ही मिलते हैं ज्यादा फीचर्स के लिए इसमें javaScript का इस्तमाल करना पड़ता है जिससे इसमें ज्यादा फीचर्स मिल जाते हैं.
    मैं आशा करता हूँ की आपको ये आर्टिकल “HTML Full Form in Hindi – HTML का पूरा नाम क्या है” पसंद आया होगा तो आप इसे शेयर करें और निचे कमेंट करें.